फेस मास्क

कोविड – 19 में किन फेस मास्क का इस्तेमाल करे?

Sending
User Review
5 (1 vote)

चीन से शुरू हुए घातक कोरोना वायरस से आज दुनियाभर के कई देश परेशान हैं। इससे अबतक 1 लाख 30 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 75 से ज्यादा देशों में 1 करोड़ से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। इस वायरस की चपेट में अब हमारा देश भारत भी है और इसको लेकर डर का माहौल बना हुआ है। हालांकि इस बीमारी से डरने की जगह हमें बचाव करने की जरूरत है। कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसे में यह भी जानना बेहद जरूरी है कि किस प्रकार का मास्क आपको कोरोना के संक्रमण से बचा सकता है।

 

कोविड – 19 में किन फेस मास्क

 

  • डिस्पोजेबल मास्क

 

डिस्पोजेबल मास्क को सर्जिकल मास्क के नाम से भी जाना जाता है। इस मास्क का प्रयोग अस्पताल में मौजूद मरीजों के आसपास रहने वाले डॉक्टर और स्टाफ करते हैं। यह मास्क डॉक्टर और रोगी दोनों को संक्रमण से बचाता है। हालांकि इस मास्क की लाइफ 3 से 8 घंटे ही होती है और कोरोना वायरस से बचाव में यह मास्क प्रभावी भी नहीं है।

 

 

  • N 95 रेस्पिरेटर मास्क

 

कोरोना, H1W1 और SARS जैसे वायरस की महामारी से बचने के लिए यह मास्क बेहद प्रभावी है। यह मास्क बाहर से अदंर तक फैलने वाले बैक्टीरियल इंफेक्शन को रोकता है। कोरोना वायरस से सुरक्षा के तौर पर एन 95 श्वासयंत्र का इस्तेमाल ज्यादा प्रभावी माना गया है, क्योंकि ये मास्क अच्छी तरह से फिट होते हैं और छोटे कणों को छानते हैं। N 95 मास्क हवा में मौजूद 95 फीसदी छोटे कणों को अवरुद्ध कर देता है। हालांकि रेस्पिरेटर मास्क की भी 3 डिस्पोजेबल वैरायटी होती है –

FFP1 मास्क

FFP2 मास्क

FFP3 मास्क

 

  • फैब्रिक फेस मास्क

 

डब्लूएचओ के आईजीटीवी (WHO’s IGTV) में डॉ. बैलर ने कहा कि फैब्रिक मास्क या नॉन-मेडिकल मास्क का इस्तेमाल आम जनता द्वारा उन क्षेत्रों में किया जा सकता है, जहां समुदाय में सीओवीआईडी -19 से संक्रमित कई लोग हैं, और कम से कम एक मीटर की शारीरिक दूरी हासिल नहीं की जा सकती है.

 

बाजार में बहुत तरह के मास्क उपलब्ध हैं, और आप घर पर भी कपड़े का मास्क बना सकते हैं. डॉ. बैलर वीडियो में कहते हैं, “ये मास्क एक बाधा के रूप में काम करते हैं ताकि आप अपने आस-पास के लोगों की रक्षा कर सकें. मास्क आदर्श रूप से कपड़े की कम से कम तीन परतों से बने होने चाहिए.”

 

कोरोनावायरस की रोकथाम और बचाव के लिए फेस मास्क कैसा होना चाहिए? सबसे जरूरी बात मास्क की बाहरी परत में पानी प्रतिरोधी यानी वॉटर रेसिस्टेंट कपड़ा होना चाहिए. और अंदर वाली परत वॉटर अबसॉर्बेंट यानी जल-शोषक होनी चाहिए वहीं बीच की परत एक फिल्टर के तौर पर काम करने वाली हो.

 

फैब्रिक फेस मास्क पहनने से पहले कुछ बातो का ध्यान रखे

 

  1. फैब्रिक फेस मास्क पहनने से पहले, आपको अपने हाथों को अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइटर या साबुन और पानी से साफ करना होगा. सैनिटाइटर के मामले में 20-30 सेकंड और साबुन और पानी से हाथ धोते समय 40-60 सेकंड लगाएं.
  2. मास्क उठाएं और उसका निरीक्षण करें. यह साफ होना चाहिए और कटा-फटा नहीं होना चाहिए.
  3. अपने नाक, मुंह और ठोड़ी को ढंकते हुए मास्क को अपने चेहरे पर लगाएं. सुनिश्चित करें कि आपके मुंह और मास्क के बीच कोई गैप न बचा रहे.
  4. संक्रमण से बचने के लिए पहनते समय भी मास्क को न छुएं. अगर आप गलती से मास्क को छूते हैं, तो अपने हाथों को फिर से साफ करें.

 

मास्क का इस्तेमाल करते वक्त कुछ सावधानियां रखे जैसे की

 

  • मास्क को हाथों में लेने से पहले हाथों को एल्कोहल आधारित हैंड सेनेटाइजर या साबुन से अच्छी तरह धो लें।
  • अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छे से ढकें और सुनिश्चित करें कि कोई गैप न रहे।
  • मास्क पहनने के बाद इसे हाथों से न छूएं, यदि आपको किसी वजह से छुना भी है तो हाथों को साफ कर लें।
  • हर मास्क की एक लाइफ होती है। उसके बाद उसे प्रयोग में नहीं लाना चाहिए।
Raghunath Samantaray
Hello! My name is Raghunath Samantaray, a full-time Digital Marketer and Blogger from New Delhi, India. I manage, TableShablet Blog where I write about Health Care Product Reviews and much more. Do check it out! You can also follow me on Facebook and Twitter. Thanks