एंटी एजिंग फूड्स

5 वैज्ञानिक एंटी एजिंग फूड्स

Sending
User Review
5 (2 votes)

एंटी एजिंग फूड्स: हमेशा जवां रहना कौन नहीं चाहता! मुझे किसी ने बताया था कि एंटी एजिंग फूड ये कमाल कर सकते हैं। किसी विद्वान ने कहा भी है कि या तो आप भोजन को अपनी दवा बना लें या फिर दवा को अपना भोजन। एक तौर पर देखें तो ये बात एकदम सटीक दिखती है। भोजन हमारे जीवन का सबसे अहम हिस्सा है।

 

जब हम अपने भोजन में एंटीऑक्सीडेंट, हेल्दी फैट्स, पानी और जरूरी पोषक पदार्थों को शामिल करते हैं तो, इसका सीधा असर शरीर के सबसे बड़े अंग यानि कि हमारी स्किन पर दिखने लगता है।

 

कोई भी लोशन, क्रीम, मास्क और सीरम स्किन पर तभी असर कर सकता है जब हम अपने भोजन को संतुलित करें। हमें इस बात पर करीबी निगाह रखनी होगी कि हम अपने रोजमर्रा के जीवन में खा क्या रहे हैं।

5 वैज्ञानिक एंटी एजिंग फूड्स:

  • जलीय सब्जियां (Watercress)

जलीय सब्जियों यानी कि पानी में उगने वाली हरी ​सब्जियों का सेवन सेहत के लिए वाकई फायदेमंद है। पोषक तत्वों से भरपूर हरी पत्तेदार सब्जियों में भारी मात्रा में

  • कैल्शियम (Calcium)
  • मैंगनीज (Manganese)
  • पोटैशियम (Potassium)
  • फॉस्फोरस (Phosphorus)
  • विटामिन ए, सी, के, बी-1 और बी-2 (Vitamins A, C, K, B-1 & B-2)

आदि पाए जाते हैं।

 

जलीय सब्जियां, जैसे कमल ककड़ी या नदरू, मखाना, नारी का साग, कलमी साग या सिंघाड़ा आदि को स्किन के भीतरी एंटीसेप्टिक के तौर पर जाना जाता है।

 

  • लाल शिमला मिर्च (Red Bell Pepper)

 

लाल शिमला मिर्च में भारी मात्रा में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो एंटी एजिंग में मदद करते हैं।

 

इसके अलावा विटामिन सी की ज्यादा मात्रा के कारण ये कोलाजेन के उत्पादन में सहायता करती है। लाल शिमला मिर्च में बेहद शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जिसे कैरोटेनॉएड्स (Carotenoids) कहते हैं।

 

कैरोटेनॉएड्स असल में पौधों में पाए जाने वाले पिग्मेंट हैं जो फलों और सब्जियों में पाए जाने वाले गाढ़े लाल, पीले या नारंगी रंगों के लिए जिम्मेदार हैं। कैरोटेनॉएड्स में कई तक के जलन दूर करने वाले गुण पाए जाते हैं। जो धूप, प्रदूषण और वातावरण के टॉक्सिन्स को दूर करने में सहायता करते हैं।

 

  • पपीता (Papaya)

 

ये स्वादिष्ट सुपरफूड कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन्स और मिनरल्स से लैस है जो, स्किन में लचीलापन बढ़ाने और झुर्रियां घटाने में मदद करते हैं। इनमें शामिल हैं:

 

  • विटामिन ए, सी, के और ई (vitamins A, C, K & E)
  • कैल्शियम (Calcium)
  • पोटैशियम (Potassium)
  • मैग्नीशियम (Magnesium)
  • फॉस्फोरस (Phosphorus)
  • बी विटामिन्स (B vitamins)

 

पपीते में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से लड़ने में आपकी मदद करते हैं। ये आपकी बढ़ती उम्र के असर को रोकने में भी मदद करते हैं।

 

पपीते में पपाइन (Papain) नाम का एंजाइम भी पाया जाता है, ये आपको अतिरिक्त एंटी एजिंग इफेक्ट देता है। ये प्रकृति के बेस्ट एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट्स में से एक है। ये डेड स्किन को हटाने में भी सहायता करता है।

 

  • ब्लूबैरीज (Blueberries)

 

ब्लूबेरीज विटामिन ए और सी के साथ ही उम्र के असर को प्रभावित करने वाले एंथोसाइनिन (Anthocyanin) नाम के एंटी ऑक्सीडेंट से भी भरपूर होती हैं। इसी एंटी-ऑक्सीडेंट के कारण ही ब्लूबेरीज को उनका गहरा नीला रंग मिलता है।

 

ये ताकतवर एंटी ऑक्सीडेंट धूप, प्रदूषण और स्ट्रेस से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है। ये कोलाजेन लॉस को रोकता है और स्किन में खुजली, जलन आदि समस्याओं को भी रोकने में मदद कर सकता है।

 

  • ब्रोकोली (Broccoli)

 

ब्रोकोली में एंटी एजिंग और स्किन की जलन-खुजली को रोकने वाले गुण पाए जाते हैं। ब्रोकोली से,

 

  • विटामिन सी और के (vitamins C and K)
  • एंटी-ऑक्सीडेंट (antioxidants)
  • फाइबर (fiber)
  • फोलेट (folate)
  • लुटीन (lutein)
  • कैल्शियम (calcium) भी मिलते हैं।

 

आपके शरीर को कोलाजेन के उत्पादन के लिए विटामिन सी की जरूरत पड़ती है। ये मुख्य प्रोटीन है जिससे स्किन को मजबूती और लचीलापन मिलता है। ब्रोकली को खाने से पहले स्टीम कर लेना चाहिए। इसे खाकर शरीर को कई फायदे मिलते हैं।

Raghunath Samantaray
Hello! My name is Raghunath Samantaray, a full-time Digital Marketer and Blogger from New Delhi, India. I manage, TableShablet Blog where I write about Health Care Product Reviews and much more. Do check it out! You can also follow me on Facebook and Twitter. Thanks